दक्षिण पश्चिम मॉनसून केरल और पूर्वोत्तर भारत के कुछ भागों में 30 मई को पहुँच गया। मॉनसून की उत्तरी सीमा यानि एनएलएम इस समय कोच्चि, चेरापूंजी, अगरतला और कोकरझार को पास कर रही हे।

कर्नाटक के कई हिस्सों में 5 से 7 जून के बीच मॉनसून पहुँच सकता है। इसी समय पूर्वोत्तर भारत के शेष भागों में भी मॉनसून का आगाज़ हो सकता हैं। गोवा सहित तेलंगाना तथा आंध्र में मॉनसून का आरंभ 8-9 जून के बीच होने की संभावना है।

मॉनसून महाराष्ट्र के मुंबई, नागपुर तथा कोलकाता और भुवनेश्वर सहित ओड़ीशा और पश्चिम बंगाल में 12 जून 13 जून के बीच पहुँच सकता है।मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड, बिहार, अहमदाबाद, इलाहाबाद, वाराणसी सहित गुजरात तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश के भागों में 16 से 20 जून के बीच मॉनसून के पहुँचने की संभावना है।

राजधानी दिल्ली, आगरा और जयपुर के साथ उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में 24 से 28 जून के बीच में मॉनसूनी बारिश होने की संभावना है।

10 से 12 जुलाई तक मॉनसून देश के लगभग सभी हिस्सों में पहुँच सकता है।